Hum Rishte Nibhana Jante Hai

फूल बनके हम महकना जानते है,
मुस्कुराके गम भुलाना जानते है,
लोग खुश होते है हमसे,
क्योंकी बिना मिले ही हम रिश्ते निभाना जानते है…

Comment Please...