Dard Chupana Shayari

तुमको छुपा रखा है इन पलकों में मैंने,
लेकीन इन को यह बताना अभी तक नहीं आया,
सोते वक़्त भीग जाती है पलके मेरी ए दोस्तों,
लेकीन पलकों को अभी तक दर्द छुपाना नहीं आया!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.