Haousla Rakh

Haousla Rakh

ये राहें ले ही जाएँगी,
मंजिल तक हौसला रख..
कभी सुना है की अँधेरे ने,
सवेरा होने न दिया…!!