Pyaari Si Subah Aap Ko Bhula Rahi Hai

शबनम की बुँदे फूलों को भीगा रही है,
ठंडी लहरे ताजगी जगा रही है,
हो जाए आप भी उसमे शामिल,
एक प्यारी सी सुबह आपको बुला रही है…

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.