Dost Ho Aap Jaisa

कल हो आज जैसा,
महल हो ताज जैसा,
फूल हो गुलाब जैसा,
और ज़िन्दगी के सफर मे दोस्त हो,
सिर्फ और सिर्फ आप जैसा…

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.