Tag: कभी कभी मजबूत हाथों से पकड़ी हुई

Rishte Dil Se Nibhaye Jate Hai

Rishte Dil Se Nibhaye Jate Hai

कभी कभी “मजबूत हाथों” से पकड़ी हुई,
“उंगलिया” भी छूट जाती है..
क्योंकि,
“रिश्ते” ताकद से नहीं दिल से निभाये जाते है…