Tag: इंसान एक दुकान हैं

Juban Sambahl Ke Rakho

‘इंसान’ एक दुकान हैं,
और ‘जुबान’ उसका ताला..
ताला खुलता हैं,
तभी मालुम होता हैं कि,
दुकान सोने की हैं,
या कोयले की…